Thursday, July 11, 2024

कंगना की को-स्टार कृतिका चौधरी की हत्या की कहानी: फुल AC में घर में सड़ती मिली लाश, कभी नशे में बिल्डिंग से छलांग लगाने वाली थीं


2 मिनट पहलेलेखक: ईफत कुरैशी

  • कॉपी लिंक

सपनों की नगरी मुंबई में हर रोज न जाने कितने नौजवान फिल्मी दुनिया की चकाचौंध में अपनी किस्मत आजमाने आते हैं। इन्हीं में से एक थीं कृतिका चौधरी। कभी टेलीफोन नेटवर्क कंपनी में काम करने वालीं कृतिका भी हीरोइन बनने मुंबई पहुंची थीं। लंबे संघर्ष के बाद उन्हें स्टार प्लस के पॉपुलर शो परिचय में एक छोटी सी भूमिका मिली थी, जिसमें लीड हीरो समीर सोनी थे।

टीवी इंडस्ट्री में रहते हुए उन्हें सावधान इंडिया और बालाजी प्रोडक्शन के कई शोज में छोटी-मोटी भूमिकाएं मिलती रहती थीं। आखिरकार लंबे संघर्ष के बाद उन्हें कंगना रनोट की फिल्म रज्जो में उनकी बहन का रोल मिला। कृतिका के सपनों को पंख मिलने लगे थे, लेकिन फिर एक दिन उनकी जिंदगी छीन ली गई।

साल 2017 में कृतिका का शव उन्हीं के फ्लैट में सड़ता हुआ मिला था। उनका शव 4 दिनों से बंद फ्लैट में सड़ रहा था, जिसकी बदबू छिपाने के लिए घर का एसी खुला छोड़ा गया था।

जांच में सामने आया कि कृतिका एक ड्रग एडिक्ट थीं, जो हत्या से पहले कई बार आत्महत्या की कोशिश कर चुकी थीं। ड्रग एडिक्शन से रवैया बिगड़ता गया और दोस्त दूर होने लगे। अकेलेपन में गुजारा करते हुए उन्होंने कई लोगों से उधार ले रखा था। कृतिका के हत्यारों को ढूंढने में महीनों लगे, लेकिन जब हत्याकांड का खुलासा हुआ तो वजह जानकर हर कोई हैरान था।

आज अनसुनी दास्तानें के 4 चैप्टर में जानिए हीरोइन बनने का सपना देखने वालीं कृतिका चौधरी की हत्या की कहानी-

12 जून 2017

फ्लैट नंबर 502, श्री भैरवनाथ एसआरए सोसाइटी, अंधेरी (वेस्ट)।

दोपहर 3 बजकर 45 मिनट की बात है…बिल्डिंग की 5वीं मंजिल पर रहने वाले लोगों को फ्लैट नंबर 503 से कुछ अजीब दुर्गंध आ रही थी। उस फ्लैट में एक्ट्रेस कृतिका चौधरी रहती थीं, जिनकी आस-पड़ोस के लोगों से ज्यादा बातचीत नहीं थी। लोगों ने सिर्फ उन्हें आते-जाते देखा था। वो अक्सर काम के सिलसिले में घर से बाहर रहती थीं और ज्यादातर लोग उनके प्रोफेशन से अनजान थे।

मौत से पहले 5 जून को कृतिका ने अपना 27वां जन्मदिन मनाया था।

मौत से पहले 5 जून को कृतिका ने अपना 27वां जन्मदिन मनाया था।

पड़ोसियों ने दुर्गंध आने पर संदेह जताया। हलचल सुनकर लोग जमा होने लगे। जैसे-जैसे लोग फ्लैट की तरफ कदम बढ़ा रहे थे, वैसे-वैसे दुर्गंध तेज हो रही थी, मानों कुछ सड़ रहा हो। गौर किया तो फ्लैट से टीवी चलने की आवाज भी सुनाई देने लगी, लेकिन दरवाजा बाहर से बंद था। आस-पड़ोस के लोगों ने यूं ही घर में दाखिल होना ठीक नहीं समझा और तुरंत पुलिस को खबर दी। जब सब इंस्पेक्टर श्रीकांत जाधव अपनी टीम के साथ दरवाजा खोलकर घर में दाखिल हुए तो मंजर दिल दहला देने वाला था।

नाइट ड्रेस पहनी कृतिका चौधरी की खून से लथपथ लाश बिस्तर पर पड़ी सड़ चुकी थी। कमरे का AC चालू था, जिससे कमरे का टेम्परेचर कंपा देने वाला हो चुका था। जाहिर है कातिलों ने बॉडी को डिकंपोज होने से बचाने के लिए एसी खुला छोड़ा था।

शुरुआती जांच में पाया गया कि उनके सिर पर गहरा जख्म था, जिससे खून बह रहा था। लाश के पास से पुलिस को उंगलियों में पहनने वाला ब्रास नकल मिला, जिसमें खून का निशान था। शव के पास ही सफेद पाउडर (ड्रग) भी बरामद किया गया। बिस्तर के पास पुलिस को कृतिका का मोबाइल मिला, जिसमें उनके घरवालों के लगातार कॉल्स आ रहे थे।

पुलिस ने जैसे ही कॉल रिसीव किया तो सामने से कृतिका के फिक्रमंद भाई की आवाज थी। उनके भाई ने कहा कि वो कई दिनों से कृतिका को कॉल कर रहे हैं, लेकिन कोई जवाब नहीं मिल रहा था। पुलिस ने जवाब देते हुए बताया कि उनकी बहन अब नहीं रहीं। बुरी खबर सुनाने के साथ ही पुलिस ने उनके परिजनों को जल्द से जल्द मुंबई आने को कहा।

कृतिका चौधरी ने 2013 में रिलीज हुई फिल्म रज्जो में कंगना के साथ काम किया था।

कृतिका चौधरी ने 2013 में रिलीज हुई फिल्म रज्जो में कंगना के साथ काम किया था।

कृतिका चौधरी उत्तराखंड के हरिद्वार की रहने वाली थीं। वो पहले जॉब के सिलसिले में दिल्ली गईं और फिर शादी कर मुंबई शिफ्ट हो गई थीं। शव मिलने से 7 दिन पहले 5 जून को उन्होंने अपना 27वां जन्मदिन मनाया था। उन्होंने अपने फ्लैट में ही बर्थडे मनाया था और घरवालों से बात की थी।

कृतिका के भाई दीपक चौधरी ने पुलिस को बताया कि उन्होंने 8 जून को आखिरी बार कृतिका से बात की थी। उसके बाद से ही कृतिका उनका कॉल नहीं उठा रही थीं। घरवाले कई दिनों से संपर्क न हो पाने के चलते परेशान हो रहे थे।

पुलिस ने शुरुआती जांच में पाया कि 8 जून को ही कृतिका की मौत हो चुकी थी और तब से ही बंद फ्लैट में उनकी लाश सड़ रही थी। पुलिस को शक था कि उनके साथ शारीरिक हिंसा हुई है। मौत का सही कारण जानने के लिए पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया।

दिल्ली में नौकरी करती थीं, शादी के बाद मुंबई आईं, पति ने दिया धोखा

पुलिस ने कृतिका चौधरी हत्याकांड के बाद उनसे जुड़े कई लोगों से बातचीत कर उन्हें करीब से जानने की कोशिश की। इस दौरान क्राइम ब्रांच की टीम ने उनकी करीबी दोस्त से संपर्क किया। दोस्त ने बताया कि वो एक साल पहले ही मुंबई छोड़ चुकी हैं और दिल्ली में रहती हैं। उनकी कृतिका से 2 साल पहले ही दोस्ती टूट चुकी थी। दरअसल, कृतिका ने एक बार नशे की हालत में बिल्डिंग से कूदने की कोशिश की थी, इस वाकये के बाद उन्होंने डरकर दोस्ती तोड़ ली थी।

कृतिका की दोस्त ने नाम न लिखे जाने की शर्त पर क्विंट को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि कृतिका एक ड्रग एडिक्ट थीं, जो कई बार जान देने की कोशिश कर चुकी थीं। उनकी कलाई में ब्लेड से काटे जाने के कई निशान थे और एक बार उन्होंने नशे में बिल्डिंग से कूदने की कोशिश की थी।

दोस्त के अनुसार, कृतिका कुछ सालों पहले दिल्ली में एक सेलफोन नेटवर्क ऑपरेटिंग कंपनी में काम किया करती थीं। दिल्ली में नौकरी करते हुए उनकी साथ काम करने वाले एक लड़के से दोस्ती हुई और साथ समय बिताते हुए दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे। दोनों साथ रहते थे, लेकिन इसी बीच कृतिका को पता चला कि जिस लड़के से वो शादी करना चाहती हैं वो पहले से शादीशुदा है। दोनों के बीच झगड़े हुए, लेकिन बाद में कृतिका से शादी करने के लिए उनके बॉयफ्रेंड ने पहली पत्नी से तलाक ले लिया। कृतिका ने इस शादी के लिए घरवालों को राजी कर लिया और दोनों शादी के बाद मुंबई शिफ्ट हो गए।

रिपोर्ट के अनुसार, कृतिका चौधरी ने 2011 में विजय द्विवेदी से शादी की थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही दोनों में अनबन होने लगी। इसी बीच कृतिका को पता चला कि उनका पति उन्हें धोखा दे रहा है। पति के धोखे से परेशान होकर कृतिका ने उनसे तलाक ले लिया। कुछ समय बाद विजय को एक राजनेता के नाम का इस्तेमाल कर लोगों से पैसे लेने पर गिरफ्तार किया गया। रिपोर्ट्स के अनुसार, विजय ने एक्ट्रेस श्वेता तिवारी, गोविंदा जैसे कई सेलेब्स से भी पैसों की ठगी की थी।

कृतिका चौधरी का पूर्व पति विजय द्विवेदी।

कृतिका चौधरी का पूर्व पति विजय द्विवेदी।

तलाक के बाद कृतिका अंधेरी में अकेले रहने लगीं। नौकरी के साथ-साथ कृतिका ने मॉडलिंग शुरू की थी। कृतिका की दोस्त ने इंटरव्यू में बताया कि 2013 में उनकी एक मॉडल कॉर्डिनेटर के जरिए कृतिका से मुलाकात हुई थी। उन्हें एक प्रोजेक्ट के लिए मॉडल की जरूरत थी, जिसके लिए उन्होंने कृतिका को मॉडलिंग ऑडिशन के लिए बुलाया था। उन्होंने कृतिका को एक प्रोजेक्ट में लिया था, जिसके बाद दोनों की दोस्ती हो गई थी।

साथ समय बिताते हुए उनकी दोस्त को एहसास हुआ कि कृतिका ड्रग एडिक्ट हैं। वो अक्सर कॉल कर ड्रग्स मंगवाती थीं। ड्रग्स लेते हुए कृतिका की हालत बिगड़ती जा रही थी, जिससे उनकी दोस्त फिक्रमंद थीं। एक बार कृतिका उनके साथ उनके भाई की शादी में शामिल होने दिल्ली गई थीं। इस दौरान उन्होंने कृतिका को समझाया था कि उन्हें ड्रग्स छोड़ देना चाहिए। कृतिका हर बार समझाने पर मान जाती थीं, लेकिन बाद में मुकर जाती थीं।

उनकी दोस्त ने बताया कि कृतिका की कलाई में कई ब्लेड मार्क थे, जिसे देखकर साफ था कि उन्होंने कई दफा आत्महत्या करने की कोशिश की थी। दोस्त ने बताया था कि एक बार दिल्ली में थीं, जब कृतिका की बिल्डिंग के वॉचमैन ने उन्हें कॉल कर बताया कि वो बिल्डिंग की छत की रेलिंग में खड़ी हुई हैं और कूदने की धमकी दे रही हैं। दोस्त डर गईं। वो उस समय शहर से बाहर थीं, ऐसे में उन्होंने अपने भाई को कृतिका की बिल्डिंग में भेजा।

कृतिका चौधरी कई मॉडलिंग प्रोजेक्ट्स का हिस्सा रही थीं।

कृतिका चौधरी कई मॉडलिंग प्रोजेक्ट्स का हिस्सा रही थीं।

जब उनका भाई पहुंचा तो देखा कृतिका बिल्डिंग की छत पर खड़ी लगातार कूदने की धमकी दे रही थीं। बिल्डिंग के नीचे भीड़ इकट्ठा हो चुकी थी और पुलिस भी बुलाई गई थी। उनकी दोस्त के भाई ने जद्दोजहद कर कृतिका को छत से उतारा और समझाकर फ्लैट ले गया।

कृतिका के रवैये से विवाद इतना बढ़ा कि सोसाइटी के लोगों ने साफ कह दिया कि अब कृतिका को उस बिल्डिंग में रहने की इजाजत नहीं दी जाएगी। नतीजतन कृतिका को घर बदलना पड़ा। वो अंधेरी का फ्लैट छोड़कर अंबोली स्थित उस फ्लैट में शिफ्ट हो गईं, जहां उनकी डेडबॉडी मिली थी।

उनकी दोस्त ने बताया था कि उनका कृतिका के साथ रहना उनके पति और घरवालों को पसंद नहीं था। हालांकि परिवार के खिलाफ जाकर उन्होंने कृतिका से दोस्ती रखी थी। जब कृतिका ने नशे की हालत में आत्महत्या की कोशिश की तो आखिरकार उन्होंने डरकर दोस्ती खत्म कर ली। उसके बाद से ही दोनों संपर्क में नहीं थे। कृतिका की मौत के 4 दिन पहले उनके जन्मदिन पर 4 जून को उनकी दोस्त ने उन्हें मैसेज किया था, हालांकि उन्हें कोई रिप्लाई नहीं मिला था।

जांच में सामने आया कि मौत से 6 महीने पहले कृतिका के पास उनके पूर्व पति विजय द्विवेदी की कॉल आई थी। वो कृतिका के साथ अपने रिश्ते को एक मौका देना चाहते थे, लेकिन एक्ट्रेस ने इनकार कर दिया था। यही वजह रही कि 23 जून 2017 को विजय को पूछताछ के लिए बुलाया गया था।

12 जून को मिली कृतिका चौधरी की मौत की खबर के बाद उनका भाई और मां शव लेने मुंबई पहुंचे। लाश इतनी सड़ चुकी थी कि परिवार ने अंधेरी स्थित श्मशान घाट में ही उनका अंतिम संस्कार कर दिया।

जब घर की जांच की गई तो पुलिस को घर से 22 हजार रुपए नकद मिले, जो उनके परिजनों को सौंप दिए गए। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार, कृतिका की मौत सिर पर लगी गहरी चोट से हुई थी। उनके सिर पर किसी नुकीली चीज से तीन बार वार किए गए थे, जिससे उनकी मौत हो गई। पुलिस को लाश के पास से ब्रास नकल मिला था, जिससे उन्हें मारा गया था।

जांच के दौरान पुलिस ने कृतिका के बिल्डिंग के वॉचमैन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। साथ ही बिल्डिंग में स्थित ग्रॉसरी स्टोर में भी पूछताछ की गई। दुकान के मालिक ने पुलिस को बताया कि कृतिका 7 जून की शाम उनकी दुकान पर आई थीं। उन्होंने दूध, मठा और एक सिगरेट का पैकेट खरीदा था, लेकिन उसके बाद से ही वो नहीं दिखीं।

CCTV फुटेज में घर से निकलते दिखे दो लोग

एक्ट्रेस के भाई दीपक ने पुलिस को बताया कि कृतिका के घर से उनकी गोल्ड ज्वेलरी और कुछ कीमती सामान भी गायब है।

कृतिका का फ्लैट खंगालने पर पुलिस को एक लड़के की शर्ट मिली, जिसमें कृतिका के खून के दाग थे। शर्ट के जरिए पुलिस ने हत्यारे तक पहुंचने की कोशिश शुरू कर दी। शर्ट के जरिए डीएनए ट्रेस किया गया और साथ ही शर्ट के मालिक तक पहुंचने के लिए पुलिस ने कई रिटेलर्स से पूछताछ की।

फ्लैट के बाद बिल्डिंग में लगे सीसीटीवी फुटेज के जरिए दो अज्ञात लोगों को प्राइम सस्पेक्ट बनाया गया, जो बिल्डिंग से निकलते दिखे थे। CCTV फुटेज इस केस के लिए अहम कड़ी साबित हुआ। पुलिस ने दोनों अज्ञात युवकों की तलाश शुरू कर दी।

मुखबिरों की मदद से पुलिस टीम ने CCTV फुटेज में दिखे दो लोगों को पनवेल से गिरफ्तार किया। उनकी पहचान शकील नसीम और वासुदास के रूप में हुई। जांच में सामने आया कि नसीम खान नालासोपारा में रहता था और वासुदेव गोवंडी में। जब उन्हें पता चला कि पुलिस उनकी तलाश में है तो पहले दोनों मालवानी में छिप गए और जब पुलिस मालवानी तक पहुंची तो दोनों पनवेल चले गए।

सालों से 6000 रुपए लौटाने की बात टाल रही थीं कृतिका चौधरी

पकड़े गए दो आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में कृतिका चौधरी की हत्या का जुर्म कबूल लिया। शकील खान एक ड्रग्स डीलर था, जिसने कई बार कृतिका चौधरी को ड्रग्स सप्लाई किया था। उसने एक साल पहले कृतिका को ड्रग्स बेची थी, जिसके 6000 रुपए बकाया थे।

कृतिका लंबे समय से उसे पैसे देने की बात टाल रही थीं और कई बार तो पैसे देने से ही सााफ इनकार कर दिया था। शकील को कुछ महीनों बाद ही ड्रग पेडलिंग और कार चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जेल से निकलने के बाद शकील को पैसों की जरूरत पड़ी, लेकिन उनके पास कृतिका का मोबाइल नंबर नहीं था।

पुलिस हिरासत में नसीम शकील खान और वासुदास।

पुलिस हिरासत में नसीम शकील खान और वासुदास।

ऐसे में उसने कुछ जानकारों की मदद से कृतिका का अंबोली स्थित पता ढूंढा। जब वो पहली बार पैसे मांगने गया तो कृतिका ने उसे कुछ दिनों के बाद आने को कहा। जब दोबारा पहुंचा तो फिर कृतिका ने टाल दिया। लगातार पैसे देने में आनाकानी कर रहीं कृतिका के रवैये से नसीम खान गुस्से से भर गया था।

पहले खाना खाया और फिर बहस हुई तो किया हमला

8 जून को नसीम ने ठान लिया कि वो कृतिका से पैसे लेकर ही रहेगा। उसने अपने दोस्त वासुदास को कॉल कर कहा कि वो कृतिका से मामला खत्म करने जा रहा है और उसे साथ चलना होगा। दोनों शाम को कृतिका के घर पहुंचे। घर पहुंचकर नसीम ने पैसे मांगे तो कृतिका ने फिर टाल दिया। तीनों की लंबी बातचीत चलती रही, जिसके बाद उन्होंने घर पर ही खाना खाया। खाने के बाद तीनों के बीच चल रही बातचीत बहस में तब्दील हो गई। बहस के दौरान ही नसीम खान ने अपने हाथ में पहने हुए ब्रास नकल से कृतिका के सिर पर हमला कर दिया। पहले हमले में ही उनके सिर से खून बहने लगा, लेकिन नसीम तब भी नहीं रुका। उसने 3 बार कृतिका के सिर पर वार किया, जिससे उनकी मौत हो गई।

पुलिस के अनुसार, नसीम खान ने कृतिका के घर जाने से पहले ही उनकी हत्या की साजिश रच ली थी। उसने अपने दोस्त को साथ चलने के लिए ये कहकर मनाया कि वो कुछ पैसे लेने जा रहा है और साथ चलने पर उसे भी पैसे मिल सकते हैं। वो अपने साथ दो ब्रास नकल और कुछ कपड़े भी लेकर गया था। जब कृतिका का खून उसकी शर्ट पर लगा, तो उसने बैग से कपड़े निकालकर बदल लिए और गंदी शर्ट वहीं छोड़ दी। दोनों ने लाश को सड़ने से रोकने के लिए एसी चलाया और टीवी चालू कर निकल गए।

जब आरोपियों ने कबूला कि उन्होंने 6 हजार रुपए के लिए कृतिका की हत्या की है, तो कृतिका के परिवार को उन पर यकीन नहीं हुआ। उनके भाई दीपक का मानना था कि कृतिका आसानी से 6 हजार रुपए लौटा सकती थीं। उनके घर में 22000 रुपए भी मिले थे। अगर उन्हें पैसे लौटाने थे, तो वो उन रुपयों का इस्तेमाल कर सकती थीं।

भाई दीपक चौधरी और मां के साथ कृतिका चौधरी।

भाई दीपक चौधरी और मां के साथ कृतिका चौधरी।

मौत से पहले कृतिका चौधरी के पास कई साउथ फिल्में थीं। अपने करियर में उन्होंने परिचय, सावधान इंडिया समेत कई टीवी शोज में काम किया था। उन्हें कंगना रनोट की फिल्म रज्जो में भी देखा गया था। मौत से ठीक एक दिन पहले कृतिका ने अपने भाई दीपक को बताया था कि वो जल्द ही डायरेक्शन में कदम रखने वाली हैं। उन्हें एक टीवी सीरियल में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम मिला है।

अगले शनिवार, 20 जुलाई को पढ़िए पाकिस्तानी स्टार कंदील बलोच की कहानी, जिनके भाइयों ने उनकी नींद में हत्या कर दी थी। कंदील पाकिस्तानी सेंसेशन थीं, जिन्होंने एक बार ऐलान किया था कि अगर पाकिस्तानी क्रिकेट टीम टी-20 में भारतीय टीम को हराती है, तो वो सरेआम स्ट्रिप डांस करेंगी। उनकी बोल्ड इमेज के चलते भाइयों ने उनकी ऑनर किलिंग कर दी। मडोना, माइली सायरस, क्लो कार्दशियन समेत कई इंटरनेशनल हस्तियों ने उनकी हत्या की आलोचना की थी।

फिल्मों और सितारों की ये अनसुनी दास्तानें भी पढ़िए-

शरीर के दो टुकड़े किए फिर अंतड़ियां निकालीं:500 लोगों ने कबूला जुर्म, 77 साल से अनसुलझी है एक्ट्रेस एलिजाबेथ की भयावह मौत की गुत्थी

साल 1947 में एक्ट्रेस एलिजाबेथ शॉर्ट की दो टुकड़ों में कटी लाश मिलने से सनसनी मच गई थी। उनके शरीर से अंतड़ियां निकाल ली गई थीं और शरीर को पेट्रोल से धोकर फेंका गया था। लाश के साथ हुई बर्बरता देखकर हर कोई हैरान था। इससे भी ज्यादा हैरानी की बात ये रही कि करीब 500 लोगों ने उनकी हत्या का आरोप कबूल किया, लेकिन किसी के खिलाफ कभी कोई सबूत नहीं मिल सके। सालों बाद आज भी उनके कातिलों का पता नहीं चल सका है। आज भी एलिजाबेथ शॉर्ट की हत्या अमेरिका के इतिहास की सबसे क्रूर हत्या में गिनी जाती है। आगे पढ़िए…

मर्लिन मुनरो से होती थी हॉलीवुड एक्ट्रेस शैरन की तुलना:8 महीने की प्रेग्नेंसी में चाकू से 16 वार किए, फिर सिरफिरों ने जिंदा फंदे पर लटकाया​​​​​

हॉलीवुड एक्ट्रेस शैरन मारी टेट की 1969 में उनके घर में 4 दोस्तों के साथ बेरहमी से हत्या की गई थी। जिस समय हत्या हुई उस समय वो 8 महीने की प्रेग्नेंट थीं। सिरफिरे हत्यारों ने सिर्फ इसलिए एक्ट्रेस की हत्या की क्योंकि वो जिस घर में रह रही थीं वहां पहले रिकॉर्ड प्रोड्यूसर रहते थे। शैरन मारी टेट हॉलीवुड की बेहतरीन एक्ट्रेस थीं, जिन्हें 2 गोल्डन ग्लोब नॉमिनेशन मिले थे। आगे पढ़िए…

राजेश खन्ना की हीरोइन, जो परिवार के साथ लापता हुईं:सालभर बाद मिला लैला का कंकाल, सौतेले पिता को सजा-ए-मौत

राजेश खन्ना की फिल्म में नजर आईं एक्ट्रेस लैला खान साल 2011 में पूरे परिवार के साथ लापता हुई थीं। करीब एक साल बाद उनका कंकाल उसी फार्महाउस में मिला था, जहां वो छुट्टियां मनाने गई थीं। उनकी हत्या का खुलासा कश्मीर में हुए एक आतंकी हमले से हुआ था। आगे पढ़िए…

बोरे में 2 टुकड़ों में कटी मिली थी लाश:शूटिंग के लिए निकली थीं बांग्लादेशी एक्ट्रेस राइमा शीमू, एक रस्सी से हुआ भयावह हत्याकांड का खुलासा

बात है साल 2022 की। बांग्लादेशी सिनेमा की सीनियर एक्ट्रेस राइमा इस्लाम शीमू रोज की तरह शूटिंग के लिए निकली थीं, लेकिन उसके बाद कभी घर नहीं लौटीं। राइमा इस्लाम शीमू को गुमशुदा मानकर परिवार ने तलाश शुरू कर दी। फिर, महज 24 घंटों में ही एक गुमशुदगी का मामला, हत्या के मामले में तब्दील हो गया। घर से चंद किलोमीटर दूर राइमा की दो टुकड़ों में कटी हुई लाश मिली, जिस पर कई चोटों के निशान थे। आगे पढ़िए…

खबरें और भी हैं…

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles